पिया -पिया II FULL VIDEO SONG II GARHWALI VIDEO 2017II DEEPAK MAMGAI

जानिए कैसे पहले ही दिन 40k+ view हुवे इस वीडियो के दोस्तों डीके म्युसिक सीरीज की प्रस्तुति उत्तरांचली वीडियो गीत ” हो तेरो पिया छन दूर विदेश। “
June 18, 2017
NEW UTTRAKHANDI FOLK SONGII नैनीताला हाथी आयो .दाँतियो मा सुनकेसरा II Deepak Mamgai Song
August 5, 2017

पिया -पिया II FULL VIDEO SONG II GARHWALI VIDEO 2017II DEEPAK MAMGAI


<a href="http://”>पिया -पिया II FULL VIDEO SONG II GARHWALI VIDEO 2017II DEEPAK MAMGAI
दोस्तों उत्तराखंड के उभरते लोकगायक दीपक ममगाई की और सुर कोकिला मीना राणा जी की मधुर आवाज में गाया गया गीत ” पिया पिया तेरो मन ब्वदु। ….. हो तेरो पिया छन दूर विदेश। .. यखुली तेरो मन ने लगनदू। ….. हाँ त्वेथें पिया थें मिलण की छै आश त्वेथें छोड़ी पहाड़े सुआ चली गेनी विदेशा। ” और सुप्रसिद अभिनेत्री अदिति उनियाल और उभरते कलाकार दीपक जोशी के कमाल का अभिनय ने इस गीत में चार चाँद लगा दिए संगीत से सजाया हे विनोद पांडेय जी ने। दोस्तो इस गीत का फिल्मांकन हर्षिल क्षेत्र में मोखूबा गांव में की गयी हे जंहा के घरों के दृश्य इस गीत को मनमोहक बनाते हे कैमरा और डायरेक्शन उत्तराखंड म्यूजिक इंडस्ट्री के चितपरिचित नाम अमित शर्मा जी ने किया हे दोस्तों आप लोगो से अनुरोध हे की इसी तरह वीडियो शेयर करे देखें जिससे कलाकारों का मनोबल बढ़ता रहे और उन्हें आगे भी काम करने की प्रेरणा मिलती रहे
गीत स्वर – दीपक ममगाई और मीना राणा
संगीत – विनोद पाण्ड़ेय
निर्मात्री – श्रीमती कमला जोशी ममगाई
अभिनय – अदिति उनियाल और दीपक जोशी
कैमरा ,DOP डायरेक्ट – अमित शर्मा
एडिटर – नरेश मल्कानिया
विशेष सहयोग -विजय ममगाई
लेबल – डी के म्यूजिक सीरीज

Like us on Facebook – https://www.facebook.com/dkmusicseries/
Visit – http://dkmusicseries.com/
Studio : Voice net Studio Delhi

लिरिक्स
पिया पिया तेरो मन ब्वदु। …..
हो तेरो पिया छन दूर विदेश। ..
यखुली तेरो मन ने लगनदू। …..
हाँ त्वेथें पिया थें मिलण की छै आश
त्वेथें छोड़ी पहाड़े सुआ चली गेनी विदेशा। ……. हो। …… आ। …..
हाँ त्वेथें छोड़ी पहाड़े सुवा चली गेनी विदेश मेरो मन नि लगनदू
कनकवी रौँले तू यखुली मन खुदणु व्हालू त्यारो
कनकवी रौंलू मि यखुली मन खुदेनु रौंलू म्यारो
———————————————————————————-
तेरो बुलणू सुवा तेरो बचायानु में याद औंदन
माया भोरीं के मि सांकि लगोंणिया में थें सतौन्दन -2
हाँ सविणु माँ आये सुआ जब बी बुल्योलो तत्वेन झट ऐ जाणु
कनकवी रौँले तू यखुली मन खुदणु व्हालू त्यारो
कनकवी रौंलू मि यखुली मन खुदेनु रौंलू म्यारो
—————————————————————————————
सात फेरों का सातों वचन तुम्थें नी याद रयां
भण्डि दिन व्हेगे नि लिनी खबर परदेशी पिया तुम वहयां – 2
हाँ आंख्यौं का आंसू पिया खुद माँ तुम्हारी म्यारा अब नि थामयंदा
कनकवी रौंलू मि यखुली मन खुदेनु रौंलू म्यारो
—————————————————————–

Comments

comments